Ticker

6/recent/ticker-posts

फेसबुक को ब्लू कलर में ही क्यों बनाया गया, ये रहा कारण

हाय फ्रेंड्स वेलकम तो माय वेबसाइट।  दोस्तों आप तो जानते ही है की फेसबुक दुनिया का सबसे बड़ा सोशल नेटवर्किंग अप्प है। फेसबुक को लॉन्च हुए १४ साल हो गए है। लेकिन इन १४ सालो में फेसबुक ने काफी बदलाव लाये है।  हर बार नए नए updates फेसबुक लाता ही रहता है।  इन १४ सालो में सबकुछ बदल गया है।  बहुत सारे नए फ़िल्टर इसमें ऐड हुए है।  लेकिन इन १४ सालो में एक चीज है जो नहीं बदली वो है फेसबुक का ब्लू कलर।  आपने भी कभी सोचा होगा की फेसबुक ने अपने अप्प का कलर क्यों नहीं बदला। तो चलिए दोस्तों जानते है इसके बारे में की क्यों फेसबुक का ब्लू कलर चेंज नहीं हुआ। 
फेसबुक को ब्लू कलर में ही क्यों बनाया गया, ये रहा कारण

Facebook ब्लू कलर में होने का कारण 
तो दोस्तों आप ये तो जानते ही है की फेसबुक के मालिक का नाम मार्क जुकरबर्ग है। फेसबुक अप्प का कलर ब्लू होने का कारण भी मार्क ज़ुकरबर्क है। दोस्तों क्या आपको पता है की मार्क जुकेरबर्ग की कलर ब्लाइंडनेस है। उनकी आँखे रेड और ग्रीन कलर को ठीक से नहीं देख सकती। तो उनके मुताबिक ब्लू कलर सबसे रिच कलर है। ब्लू कलर को वो सबसे आसानी से देख सकते है। 

मार्क जकरबर्ग ने खुद न्यूयॉर्क की एक मैगजीन में इसे रिवील किया था कि उन्होंने एक दिन अपनी आँखों का टेस्ट लिया था जिससे उन्हें पता चला कि उन्हें रेड और ग्रीन को लेकर कलर एफिसियंसी है. इसका मतलब ये नहीं है कि वो पूरी तरह से दोनों कलर नहीं देख सकते है. बता दे कि कलर एफिसियंसी की बजह से कुछ कलर कम दिखते है तो कुछ कलर बिलकुल उलटे दिखते है. मार्क जुकरबर्ग को ये बात फेसबुक बनाने के कई साल बाद चली फिर उन्होंने रिलाइज किया की शायद इसलिए उन्होंने फेसबुक का कलर ब्लू सेलेक्ट किया था.

तो दोस्तों आपके ये तो पता ही चला होगा की फेसबुक अप्प ब्लू कलर में ही क्यों होता है। उसका कारन हमने तो आपको बताया ही है। फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकेरबर्ग ने अपने पसंद से ही फेसबुक अप्प का कलर ब्लू चुना है। आशा करते है दोस्तों की आपको हमारी जानकारी समझ में आगयी हो।  हमारी जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित हो यही हम आशा करते है। धन्यवाद्। 

Post a Comment

0 Comments